मतलब की खामोशी बेहतर है, बेमतलब की बातों से 💯💯

पानी 🌊 दरिया में हो या 👀 आँखों में, गहराई और राज़ 🌊 दोनों में होते हैं...

रब से मांगो, सबसे नहीं,🙏

प्यार – परवाह – शरारत और थोड़ा सा समय, यही वो दौलत है, जो अक्सर हम हमारे अपनों से चाहते हैं !!

गलतियां कीजिए.... पर किसी के साथ गलत ना कीजिए....!!

राम से बड़ा कोई सत्य नहीं और हनुमान से बड़ा कोई भक्त नहीं |🙏

बच जाये जवानी में जो दुनियां की हवा से, होता है फ़रिश्ता, कोई इंसान नहीं होता| ❤️‍🔥

छोटी सी ज़िन्दगी ने बड़ा सबक सिखाया, रिश्ता सब से रखो उम्मीद किसी से नहीं...💯

जीवन को केवल दो ही शब्द नष्ट करते हैं, अहम और वहम |💯

खुश रहना है तो चुप रहना सीखो, क्योंकि खुशियों को शोर पसंद नहीं होता| 💯

परेशानियां हमे भी तो है साहब, पर मुस्कुराने में क्या जाता है।।😊😊

ख्वाहिशों का इलाका बहुत बड़ा होता है,बेहतर है कि हम जरूरत की गली से वापस जाएं 🌟 🚩

इंतज़ार उसका ही करना, जिसे तुम्हारे हर लम्हे की कीमत पता हो..💯

जब बुरे हालात घेर लेते हैं, तब अपने भी नज़र फेर लेते हैं।।💯💯

सच्चे रिश्ते कुछ नहीं मांगते, सिवाय वक़्त और इज्जत के..!!🥰

मुसीबतों से निखरती है शखिसयत यारो, जो चट्टानों से ना उलझे .. वो झरना किस काम का ♠️

टूटी हुई चीज़ें हमेशा तकलीफ देती है जैसे दिल,नींद,भरोसा और सबसे ज़्यादा उम्मीद।

तुम उसे छू लो और वो तुम्हारा हो जाए.. इतनी वफा तो सिर्फ कोरोना के पास है😜

सभी अच्छे होते हैं, बस पहचान बुरे वक़्त में होती हैं..😊

किसी से इतनी उम्मीद मत रखना कि, उम्मीद के साथ खुद भी टूट जाओ..💯💯

माना कि वक़्त सता रहा है, पर कैसे जीना है ये भी बता रहा है |🔥🔥

सुना हैं काफ़ी पढ़ लिख गये हो तुम, कभी वो भी पढ़ो जो मै कह नहीं पाता😊😊

मेहनत करते रहो हर काम होगा, महादेव की कृपा रही तो हर महफ़िल में नाम होगा 🙏

तेरे बाद किसी को प्यार से ना देखा हमने हमे इश्क़ का शौंक है, आवारगी का नहीं |😇😇

मन चाहा किरदार फिल्मों में मिलता है ज़िन्दगी में नहीं 💯💯

उम्र ना पूछो इश्क करने वालों की हुजूर, मिजाज ए आशिकी रखने वाले हमेशा जवान रहते हैं❤️‍🔥

किताब सी शख्सियत दे ऐ मेरे खुदा, सब कुछ कह दूँ खामोश रहकर 😊😊

चुप थे तो चल रही थी ज़िंदगी लाजवाब खामोशियां बोलने लगी तो बवाल हो गया🤫

छुपे-छुपे से रहते हैं. सरेआम नहीं होते. कुछ रिश्ते सिर्फ एहसास हैं. उनके नाम नहीं होतेlll❤️

मुझे दे दिया छॉंव का सुख खुद जलते रहे धूप में...मैंने ऐसे फ़रिश्ते देखे हैं माता पिता के रूप में ...🥰

मुस्कराहटे झूठी भी हो सकती है, इंसान को देखना नहीं समझना सीखो !🖤💯

वक़्त के साथ बदलना सीखा है हमने, ज़ख्म जैसा भी हो हसना सीखा है हमने |😊