आज भी यकीन नहीं होता मुझे, क्या इतना आसान था, इस इश्क़ से निकल जाना?🥺🥺

22

तूने कैसे थामा होगा हाथ उसका, तेरी हथेली को भी आदत मेरी थी। 🥺🥺

17

उसने इश्क की अर्थी सज़ा दी, जो कभी इश्क़ का गुलाम था ।💯💔

13

रंग तो मौसम और बादल भी बदलते है, पर तुम जैसा कोई नही |💯

15

आज फिर मेरे शहर में बारिश हो रही है, फिर किसी आशिक़ का दिल टूटा है।💔💔

33

मिली है किसी को बिन मांगे वो, हमें तो इबादत के बाद भी इंतजार ही मिला है. 💔

18

अब तो इज़ाज़त लेनी होगी तुम्हे याद करने से पहले, मालिक जो बदल लिए है तुमने ।😊😊

16

दिल ए नादान तू भी अजीब पागल है, तुझे सिर्फ वो चाहिए, जो तेरा हो नही सकता..|❤️❤️

21

कैसे करूँ मैं साबित..कि तुम याद बहुत आते हो, एहसास तुम समझते नही और अदाएं हमे आती नहीं...😊😊

22

रोये बगैर तो प्याज भी नही कटता, यह तो जिंदगी है जनाब, ऐसे-कैसे कट जाएगी..😭

26

क्या खाक तरक्की की आज की दुनिया ने, मरीज ऐ इश्क़ तो आज भी लाइलाज बैठे है. 💯❤️

7

माना कि तुझसे दूरियां कुछ ज्यादा ही बढ़ गई हैं, पर तेरे हिस्से का वक़्त आज भी तन्हा गुजरता है |😔😔

22

बहुत अंदर तक जला देती है, वो शिकायतें जो बयाँ नही होती..🔥🔥

19

मालूम है की ख़्वाब झूठे हैं और ख़्वाहिशें अधूरी हैं, पर ज़िंदा रहने के लिए कुछ गलतफहमियाँ भी ज़रूरी हैं |💯💯

11

नफ़रत करना तो हमने कभी सीखा ही नहीं, मैंने तो दर्द को भी चाहा है, अपना समझ कर |🥰

21

आज परछाई से पूछ ही लिया, क्यों चलती हो मेरे साथ, उसने भी हंसके कहा, और है कौन तेरे साथ |❤️

30

जिंदगी कैसी अजीब हो गई है खुश दिखना खुश होने से ज्यादा जरूरी हो गया है। 😊

8

पता नही होश में हूं या बेहोश हूं में... पर बहुत सोच समझ कर खामोश हूं मैं...🤫🤫

19

गुरुर” किस बात का करू मरने के बाद मेरे "अपने" ही, मुझे छूने के बाद हाथ" धोएंगे...!😊😊

21

सुना था मोहब्बत मिलती है, मोहब्बत के बदले || हमारी बारी आई तो, रिवाज ही बदल गया ||🥺🥺

21

धोखा देने के लिए शुक्रिया तेरा ! तुम न मिलती तो दुनिया की समझ न आती 💯

11

कौन कहता है कि वक्त बहुत तेज़ है, कभी किसी का इंतज़ार तो करके देखो..⌛

15

जुदा होने का शौक भी पूरा कर लेना जनाब, लगता है तुझे हम ज़िंदा अच्छे नहीं लगते!💔

11

हमारी हसी पे मत जाना, फूल तो कब्र पर भी होते है!🥀

24

सुना है दर्द अक्सर बेवफा लोग देते हैं, लेकिन हमारी दुनिया उजाड़ी है एक मासूम चेहरे ने...💔

19

कहने वाले का क्या जाता है, कमाल तो सहने वाला करता है.❤️

15

रोज़ तोह वोह मरते है जोह, खुद से जयादा किसी और की फ़िक्र करते है .❤️💯

9

वो मेरा नहीं फिर भी मेरा है, ये कैसी उम्मीद ने मुझे घेरा है |❤️

19

मन था : भर गया इंसान था : बदल गया 💯

27

दर्द मुझको ढूंढ लेता है रोज़ नये बहाने से... वो हो गया है वाकिफ़ मेरे हर ठिकाने से..❤️

8

मुफ्त में नही सीखा उदासी में मुस्कुराने का हुनर, बदले में ज़िन्दगी की हर खुशी तबाह की है हमने..🥺🥺

7

तरस गए हैं तेरे मुँह से कुछ सुनने को हम, प्यार की बात न सही कोई शिकायत ही कर दे..।।😊

14