कोई चाहिए जो कहे, तुम कामयाब हो जाओ रिश्ता में खुद ले कर आऊँगी। 🥰❤️

49

बात करने के लिए Topic की जरूरत नहीं होती, बस Feelings होनी चाहिए। ❤️💯

109

हमें जरूरत ही क्या हमारे प्यार को साबित करने की जब हमारे चेहरे की खुशी सब जाहिर कर देती है। 🥰❤️

36

तेरे Online आने पर वो हरी बत्ती,🥰 मुझे चाँद से भी ज्यादा खूबसूरत लगती हैं..!!❤️

152

अधूरी लिखी होती है कुछ मोहब्बतें,🥰 सुनो यहाँ सबके यार बेवफा नहीं होते..!! ❤️

66

भुलना भुलाना तो दिमाग का काम है, बेफिक्र रहिए जनाब आप दिल में रहते है..!! 💕

105

कुछ यूँ ही चलेगा तेरा मेरा रिश्ता उम्र भर, मिल गए तो बातें लम्बी न मिले तो यादें लम्बी।। ❤️❤️

79

तेरी यादें, तेरी बातें, बस तेरे ही फसाने है, हाँ कबूल करते है, कि हम तेरे दीवाने है..🥰🥰

70

एक सुकुन सा मिलता है 🥰 तुझे सोचने से भी, फिर कैसे कह दूँ, मेरा इश्क बेवज़ह सा है | ❤️

51

इश्क की उम्र नहीं होती ना ही दौर होता है इश्क़ तो इश्क़ है जब होता है बेहिसाब होता है।

41

खुशनसीब है जो तुम्हे देख पाते है ❤️ हर किसी को यार का दीदार नसीब नहीं होता है।। 🥰

47

कब तक बातों से दिल ❤️ बहलायें,अब वो मुझे रूबरू चाहिए !! 😊

37

नजरें 👀 झुकी थी और चेहरे 😊 पे क्या नूर था, उसकी सादगी में भी कितना गुरुर था!❤️

54

लिख दे, मेरा अगला जनम उसके नाम पे... ए खुदा... इस जनम में, इश्क थोडा कम पड़ गया है..! ❤️

42

दस्तक़ और आवाज़ तो कानों के लिए है.. जो रूह को सुनाई दे उसे खामोशी कहते हैं..

24

कान्हा को राधा ने प्यार का पैगाम लिखा, पुरे खत में सिर्फ कान्हा कान्हा नाम लिखा। 🥰🥰

39

इन आंखो को जब तेरा दीदार हो जाता है , मेरा तो हर दिन सांवरे त्योहार हो जाता है |

19

मेरा सफर अच्छा है, लेकिन मेरा हमसफर उससे भी अच्छा है!

86

मै तो फना हो गया उसकी एक झलक देखकर ना जाने हर रोज़ आईने पर क्या गुजरती होगी।

40

शोर सी है जिंदगी मेरी, सुकून सा है इश्क तेरा!!

61

मैंने दबी आवाज में पूछा, मोहब्बत करने लगी हो, नजरें झुका कर वो बोली, "बहुत"

67

मैंने जब भी जाने की इजाजत माँगी, उन्होंने जुबाँ से हाँ कह के निगाहों से रोक लिया !!

46

होती रहेगी मुलाकाते तुमसे, नजर से दूर हो दिल से नहीं ॥

118

तू गुजर जाये करीब से.... वो भी मुलाकात से कम नहीं..

71

हम जुड़े हुए हैं प्यार की डोर से, गुस्सा तो हो सकते हैं पर जुदा नही.!

71

क्या पता था कि मोहब्बत ही हो जायेगी, हमें तो बस तेरा मुस्कुराना अच्छा लगा था |

84

आज फिर उसने मुस्कुराके देखा मेरी तरफ और मैं फिर से दीवाना हो गया।।

41

जब कभी तुम मुस्कराओ बिना बात के, समझ लेना हमारी दुआ कबूल हो गयी।

32

मत हटाया करो यूँ दुपट्टे अपने चेहरे से, सीधा सा दिल मेरा बेइमान होने लगता है।

23

मैं भिखारी भी बन जाऊँगा तेरी खातिर, कोई डाले तो सही मेरी झोली में तुझे!

32

काश ऐसी भी कोई खूबसूरत रात हो, एक चाँद आसमान में और एक मेरे साथ हो।

39

किस तरह खत्म करें उन से रिश्ता, जिन्हें सिर्फ सोचते हैं तो पूरी कायनात भूल जाते हैं..!!

27